भोपाल, कोरोना के कहर से रविवार देर रात राजधानी भोपाल में पहली मौत हो गई।इब्राहिम गंज निवासी नरेश खटीक 2 दिन से नर्मदा हॉस्पिटल में भर्ती था। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। रात 1:30 बजे इलाज के दौरान नरेश ने दम तोड़ दिया। मध्यप्रदेश में अब मरने वालों की संख्या 14 हो गई है। वहीं, बीते 24 घंटे में मध्यप्रदेश में पांच लोगों की मौत हो चुकी है।

इंदौर में सबसे ज्यादा मौत
मध्यप्रदेश के इंदौर में अभी तक सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। इंदौर में अभी तक 09 लोगों की मौत हो चुकी है। उसके बाद उज्जैन में दो, भोपाल, छिंदवाड़ा और खरगोन जिले में कोरोना के कारण 1-1 संक्रमितों की मौत हो चुकी हैं।

मौत के मामले में मध्यप्रदेश का दूसरा स्थान
देशभर में कोरोना वायरस के कारण सबसे ज्यादा मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं। महाराष्ट्र के बाद मध्यप्रदेश अब दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। मध्यप्रदेश के बाद गुजरात और तेलंगाना में 11-11 संक्रमितों की मौत हुई है। मध्यप्रदेश के इंदौर में संक्रमितों के आंकड़े तेजी से बढ़ रहे हैं।

एमपी में तेजी से बढ़ रहे हैं आंकड़े
मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े तेजी से बढ़ रहे हैं। 4 अप्रैल को मध्यप्रदेश में 24 कोरोना संक्रमित मिले थे, वहीं, पांच अप्रैल को प्रदेश में 31 पॉजिटिव केस मिले हैं। 48 घंटे में मध्यप्रदेश में 55 पॉजिटिव केस मिले हैं। मध्यप्रदेश में अभी तक कोरोना संक्रमण के कुल मरीजों की संख्या 216 हो गई है। अकेले इंदौर में आंकड़ा 135 के करीब पहुंच गया है।

जांच की क्षमता पांच गुना बढ़ी
इंदौर में लगातार संक्रमित मिलने के बाद जांच की क्षमता बढ़ा दी गई है। एमजीएस इंदौर में स्थापित वायरोलॉजी लैब की क्षमता पांच गुना बढ़ गई है। पहले 40 टेस्ट होते थे अब 200 टेस्ट हो रहे हैं। इससे जांच की रफ्तार बढ़ी है। वहीं, दूसरी तरफ इंदौर के लिए राहत भरी खबर ये है कि संक्रमित मरीज अब ठीक हो रहे हैं। ग्वालियर, इंदौर और भोपाल में कुछ संक्रमित मरीज ठीक हुए हैं। कई भर्ती मरीजों की जांच रिपोर्ट अब निगेटिव आई है।