इस्लामाबाद,पाकिस्तान में कोरोना के पॉजिटिव केस की संख्या बढ़कर 882 हो गई है। एक डॉक्टर सहित 6 लोगों की मौत हो गई है। इसके बाद देश के तमाम जिला प्रशासन ने शहरों और बाजारों को बंद किया। प्रशासन को डर है कि आने वाले दिनों में संख्या और बढ़ सकती है। यहां सैंकड़ों लोग हैं जिनको लेकर यह आशंका जताई है कि वे पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आकर संक्रमित हो गए हैं।
सामाजिक वर्जना बन गई आफत
हालांकि, ग्रामीण इलाकों में बीमारी को सोशल टैबू के रूप में लिया गया है और जिन लोगों में लक्षण भी हैं वो अस्पताल नहीं जा रहे। इसके बाद से सरकार को संक्रमित लोगों का पता लगाने में दिक्कत हो रही है। अब तक पाकिस्तान में छह लोगो की मौत हो चुकी है जिनमें एक युवा डॉक्टर भी शामिल हैं। गिलगित-बाल्टीस्तान के अस्पातल में कोरोना मरीज का इलाज कर रहे थे।

उतारनी पड़ी है सेना
संख्या बढ़ती देख इमरान खान सरकार ने सभी चार प्रांतों के अलावा राष्ट्रीय राजधानी इस्लामाबाद, गिलगित बाल्टीस्तान और पीओके में सेना उतारने का फैसला कर लिया। उधर, पीएम इमरान खान लगातार देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं और लोगों से सेल्फ क्वारनटाइन होने की अपील कर रहे हैं। वे देशवासियों को बता रहे हैं कि हमारे यहां स्वास्थ्य व्यवस्था कमजोर है और अगर कोरोना का असर बढ़ा तो उससे निपटना मुश्किल होगा।

देश के अधिकांश हिस्से में सभी मुख्य बाजारों, शॉपिंग मॉल्स, रेस्तरां और अन्य पब्लिक प्लेस को बंद कर दिया गया है। फिलहाल, सिंध में कोरोना के 394, पंजाब में 246, बलूचिस्तान में 108, खैबर पख्तूनख्वा में 38, गिलगित बाल्टीस्तान में 80, इस्लामाबाद में 15 और पीओके में एक केस सामने आया है।