कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कालाबाजारी-जमाखोरी करने वालों को सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। लोगों को अफवाह में न आने और लॉकडाउन के दौरान सामान्य दिनों की तरह ही जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहने का आश्वासन दिया।जावड़ेकर ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पूरी दुनिया संकट के दौर से गुजर रही है। इससे बचने का एक मात्र उपाय सामाजिक दूरी है। इस कारण किए गए लॉकडाउन से सामान्य लोगों की परेशानी बढ़ी है। इसी के मद्देनजर 80 करोड़ लोगों को राहत देने का रास्ता ढूंढी है। अब इस फैसले के कारण एक व्यक्ति को 21 किलो अनाज मिलने का रास्ता साफ हो जाएगा। इसके लिए आवश्यक तैयारी कर ली गई है।

जमाखोरों को सख्त संदेश

इस दौरान जावड़ेकर ने जमाखोरी-कालाबाजारी करने वालों को सख्त संदेश दिया। उन्होंने कहा कि ऐसी शिकायतों के खिलाफ त्वरित और सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसे मामलों से सख्ती से निपटा जाएगा।

अफवाहों से बचने की अपील

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान जरूरी चीजों की कोई किल्लत नहीं होगी। सामान्य दिनों की तरह ही राशन, दूध, दवाई, मांस सहित जरूरी दुकान खुले रहेंगे। लोग इन जगहों पर सामान्य दिनों की तरह ही आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी कर सकते हैं। इसलिए अफवाह में आ कर डर के मारे जरूरत से ज्यादा खरीददारी न करें नहीं तो इससे जमाखोरी और कालाबाजारी को बढ़ावा मिलेगा।

कैबिनेट में सामाजिक दूरी का ख्याल

पीएम निवास पर हुई कैबिनेट की बैठक में सामाजिक दूरी का ध्यान रखा गया। पीएम सहित बैठक में शामिल सभी मंत्रियों ने तय दूरी का पालन किया। बैठक स्थल पर इनकी कुर्सियां दूर दूर रखी थीं।