Wednesday, 26 June 2019, 7:12 AM

तीज एवं त्यौहार

हनुमान चालीसा की हर चौपाई मंत्र है, हनुमान जन्मोत्सव पर इन 8 का जाप देगा मनचाही खुशियां

Updated on 17 April, 2019, 6:15
इस वर्ष 19 अप्रैल 2019 को हनुमानजी की जयंती पंचांगों द्वारा मानी गई है। चैत्र शुक्ल पूर्णिमा तथा कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी- ग्रंथों के हिसाब से यह दोनों ही श्री हनुमान जन्मोत्सव के रूप में मनाए जाते हैं। हनुमान चालीसा की हर चौपाई ही मंत्र है। इनका जप कर अपनी समस्या का... आगे पढ़े

आज भी है भगवान महावीर की प्रासंगिकता 

Updated on 17 April, 2019, 6:00
(17 अप्रैल भगवान् महावीर जयंती पर विशेष)  जैन धरम के अंतिम तीर्थकर भगवान महावीर स्वामी का जन्म चैत्र सुदी  तेरस को हुआ था .जैन दर्शन में अहिंसा ,अनेकांतवाद और अपरिग्रह का प्रतिपादन उनके द्वारा भी किया गया .आज भी महावीर स्वामी के सिद्धांत मानव जगत के लिए बहुत हितकारी हैं .   जो... आगे पढ़े

हनुमान जी के जन्मदिन पर कर लीजिए बस ये 2 काम, साल भर मिलेगा शुभ वरदान

Updated on 16 April, 2019, 6:45
19 अप्रैल 2019 शुक्रवार के दिन हनुमान जयंती है। परमवीर हनुमान जी के जन्मोत्सव के रूप में हनुमान जयंती पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है। महावीर हनुमान को सबसे शक्तिशाली देवता के रूप में पूजा जाता है। बजरंगबली अमर और चिरंजीवी है। इनकी भक्ति करने से मनुष्य... आगे पढ़े

भगवान महावीर स्वामी के जीवन की 5 प्रेरक कथाएं, आप भी अवश्‍य पढ़ें

Updated on 16 April, 2019, 6:30
1. उन्मत हाथी हुआ शांत राजा सिद्धार्थ की गजशाला में सैकड़ों हाथी थे। एक दिन चारे को लेकर दो हाथी आपस में भिड़ गए। उनमें से एक हाथी उन्मत्त होकर गजशाला से भाग निकला। उसके सामने जो भी आया, वह कुचला गया। उसने सैकड़ों पेड़ उखाड़ दिए, घरों को तहस-नहस कर... आगे पढ़े

'जियो और जीने दो' का महान संदेश देने वाले महावीर स्वामी का जन्म कल्याणक दिवस 17 अप्रैल को

Updated on 16 April, 2019, 6:00
महावीर का संपूर्ण जीवन स्व और पर के अभ्युदय की जीवंत प्रेरणा है। लाखों-लाखों लोगों को उन्होंने अपने आलोक से आलोकित किया है इसलिए महावीर बनना जीवन की सार्थकता का प्रतीक है। प्रत्येक वर्ष भगवान महावीर की जन्म-जयंती हम मनाते हैं। समस्त विश्व में जैन समाज और अन्य अहिंसा प्रेमी व्यक्तियों... आगे पढ़े

कामदा एकादशी 15 अप्रैल को, इस दिन व्रत करने से प्रसन्न होते हैं भगवान विष्णु

Updated on 15 April, 2019, 6:30
चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी कहते हैं। कामदा एकादशी को भगवान श्रीविष्णु का उत्तम व्रत कहा गया है। इस बार यह व्रत 15 अप्रैल, मंगलवार को है। इस व्रत की विधि और महत्व इस प्रकार है- ये है व्रत विधि - कामदा एकादशी की सुबह स्नान आदि... आगे पढ़े

19 अप्रैल को है हनुमान जयंती, रसीला बनारसी पान चढ़ाकर मांग लीजिए मनचाहा वरदान

Updated on 15 April, 2019, 6:00
जय श्रीराम, जय आंजनीपुत्र हनुमान.. चिरंजीवी देव अतुल बलशाली रामभक्त हनुमानकी की कृपा पाने के लिए सच्चे मन से उनकी अर्चना-आराधना करनी चाहिए। आइए जानते हैं हनुमंत कृपा पाने के आसान उपाय.. हनुमान जयंती पर पीपल के 11 पत्तों का उपाय अपनाना चाहिए। ब्रह्म मुहूर्त में उठें। इसके बाद नित्य कर्मों से... आगे पढ़े

दुनिया को दया, प्रेम, करुणा व अहिंसा की राह दिखाने वाले भगवान महावीर स्वामी की जयंती

Updated on 14 April, 2019, 6:15
जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर के जन्मदिवस को आज महावीर जयंती के नाम से जाना जाता है। जैन समाज द्वारा पूरे भारत में भगवान महावीर के जन्म उत्सव के रूप मे 'महावीर जयंती' मनाई जाती है। महावीर जयंती के साथ-साथ इस दिन को महावीर जन्मकल्याणक नाम से के... आगे पढ़े

14 अप्रैल को बैसाखी पर्व, जानिए क्यों मनाया जाता है यह, क्या है इसका महत्व

Updated on 14 April, 2019, 6:00
भारत त्योहारों का देश है, यहां कई धर्मों को मानने वाले लोग रहते है और सभी धर्मों के अपने-अपने त्योहार है। बैसाखी पंजाब और आसपास के प्रदेशों का सबसे बड़ा त्योहार है। बैसाखी पर्व को सिख समुदाय नए साल के रूप में मनाते हैं। इस वर्ष बैसाखी का पर्व रविवार,... आगे पढ़े

हिन्दु धर्म के पर्याय-श्रीराम 

Updated on 13 April, 2019, 10:30
विष्णु के अवतार श्रीराम का जीवनकाल एवं पराक्रम महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित संस्कृत महाकाव्य रामायण के रूप में वर्णित हुआ है। गोस्वामी तुलसीदास जी ने भी उनके जीवन पर केन्द्रित भक्तिभावपूर्ण सुप्रसिद्ध महाकाव्य श्री रामचरितमानस जी की रचना की है। इन दोनों के अतिरिक्त अन्य भारतीय भाषाओं में भी रामायण... आगे पढ़े

बहुत सरल है श्रीराम को प्रसन्न करना, यह 3 उपाय आपके काम के हैं

Updated on 13 April, 2019, 6:45
श्रीराम का व्यक्तित्व जितना सरल है उतना ही उन्हें प्रसन्न करना भी आसान है। आइए जानें कुछ सरलतम उपाय श्रीराम को प्रसन्न करने के... * रामनवमी के दिन कोई भी स्त्री रात्रि में खीर बना लें और उस खीर को चन्द्रमा की रोशनी में एक घंटे तक रखें। फिर पति-पत्नी दोनों... आगे पढ़े

श्रीराम नवमी के दिन कर लीजिए रामचरितमानस की पवित्र चौपाई सिद्ध, जानिए क्या करें

Updated on 13 April, 2019, 6:30
रामचरितमानस की पावन चौपाईयों को रामनवमी के शुभ दिन अभिमंत्रित करने का तरीका यह है कि रात्रि को 10 बजे के बाद अष्टांग हवन के द्वारा इन्हें सिद्ध करें। कहते हैं भगवान् शंकरजी ने मानस की चौपाइयों को मंत्र-शक्ति प्रदान की है- इसलिए भगवान शंकर को साक्षी बनाकर इनका श्रद्धा... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्र अष्टमी पर विशेष-शक्ति से भरपूर हैं शक्तिपीठ

Updated on 13 April, 2019, 6:00
जिस प्रकार शिव के द्वादश ज्योर्तिलिंग विशेष महत्व रखते हैं, ठीक उसी प्रकार देवी के शक्ति पीठ भी धार्मिक सद्भाव का आधार हैं। ये शक्तिपीठ आध्यात्मिक के साथ ही बौद्धिक और दार्शनिक महत्व भी रखते हैं। इन शक्तिपीठों का निर्माण बुद्घ के स्तूपों की तर्ज पर किया गया। जिस प्रकार... आगे पढ़े

नवरात्रि विशेष : इस पवित्र श्लोक और क्षमा प्रार्थना के बिना अधूरी मानी जाएगी आपकी दुर्गा पूजा, अव

Updated on 12 April, 2019, 6:30
नवरात्रि में इस पवित्र श्लोक के बिना अधूरी मानी जाएगी आपकी दुर्गा पूजा, आइए पढ़ें श्लोक एवं क्षमा प्रार्थना :- मां दुर्गा के श्लोक प्रथमं शैलपुत्री च द्वितीयम्‌ ब्रह्मचारिणी। तृतीयं चंद्रघण्टेति कुष्मांडेति चतुर्थकं॥ पंचमं स्कंदमातेति, षष्टम कात्यायनीति च। सप्तमं कालरात्रीति, महागौरीति चाष्टमं॥ नवमं सिद्धिदात्री च नवदुर्गा प्रकीर्तिताः॥ क्षमा प्रार्थना अपराधसहस्त्राणि क्रियन्तेहर्निशं मया। दासोयमिति मां मत्वा क्षमस्व परमेश्वरि॥ आवाहनं न जानामि... आगे पढ़े

कुंवारी हैं तो चैत्र नवरात्रि का अवसर हाथ से न जाने दें, आदर्श पति के लिए पढ़ें मां दुर्गा का विशेष

Updated on 12 April, 2019, 6:15
यदि किसी कुंवारी कन्या के विवाह में अड़चने आ रही हों या मनचाहा वर मिलने में कठिनाई आ रही हो। किसी कन्या के विवाह में किसी भी कारण से अनावश्यक विलंब हो रहा हो, बाधाएं आ रही हों तो कन्या को चैत्र नवरात्रि से स्वयं 21 दिनों तक निम्न मंत्र... आगे पढ़े

जीवन को मंगलमय बनातीं माता कालरात्रि 

Updated on 12 April, 2019, 6:00
चैत्र नवरात्र के सातवें दिन माता दुर्गा के कालरात्रि रूप की पूजा की जाती है। धर्म शास्‍त्रों के अनुसार बुरी शक्तियों से पृथ्‍वी को बचाने और पाप को रोकने के लिए माता ने अपने तेज से इस रूप को उत्‍पन्‍न किया था। मॉं दुर्गा के सातवें स्वरूप माता कालरात्रि का... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि विशेष : जानिए हर दिन का प्रसाद, किस दिन क्या चढ़ाएं?

Updated on 11 April, 2019, 6:45
* चैत्र नवरात्रि 2019 : मां दुर्गा को किस दिन चढ़ाएं कौन सा विशेष भोग जानिए नवरात्रि में हर दिन मां दुर्गा को विशेष भोग अर्पित किया जाता है। अगर आप प्रथम दिन से यह भोग देवी को नहीं चढ़ा सके हैं तो नवरात्रि के अंतिम दिन सभी का एक साथ... आगे पढ़े

इन मंत्रों के बिना अधूरी है नवरात्रि की पूजा, नौ दिन अवश्‍य पढ़ें ये बीज मंत्र

Updated on 11 April, 2019, 6:30
नवरात्रि के नौ दिनों तक देवी दुर्गा की पूजा-आराधना का विधान है। नवदुर्गा के इन बीज मंत्रों की प्रतिदिन की देवी के दिनों के अनुसार मंत्र जप करने से मनोरथ सिद्धि होती है। आइए जानें नौ देवियों के दैनिक पूजा के बीज मंत्र - देवी दुर्गा के सरल बीज मंत्र 1. शैलपुत्री-... आगे पढ़े

 षष्ठी देवी: भक्तों को वरदान देने वाली कात्यायनी

Updated on 11 April, 2019, 6:00
चैत्र नवरात्र में माता दुर्गा के षष्ठी रूप माता कात्यायनी की पूजा की जाती है। धार्मिक शास्त्र अनुसार महर्षि कात्यायन की कठिन तपस्या से प्रसन्न होकर उनकी इच्छा के अनुसार ही उन्हें पुत्री के रूप मे देवी प्राप्त हुईं थी। महर्षि कात्यायन ने इनका पालन-पोषण किया इसीलये इस देवी को... आगे पढ़े

मां दुर्गा के 108 नाम, देते हैं हजार गुना सुख-संपत्ति और खुशियों का वरदान

Updated on 10 April, 2019, 6:45
देवी दुर्गा, भगवान शिव की पत्नी पार्वती जी का ही स्वरूप है। नवरात्रि में भक्त हर प्रकार की पूजा और विधान से मां दुर्गा को प्रसन्न करने के जतन करते हैं। लेकिन अगर आप व्यस्तताओं के चलते विधिवत आराधना ना कर सकें तो मात्र 108 नाम के जाप करें। इससे... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि में श्रीराम के ये 10 सरलतम मंत्र बदल देंगे आपकी किस्मत की तस्वीर

Updated on 9 April, 2019, 6:15
राम नाम की शक्ति अपरिमित है। उनके नाम से लिखे पत्‍थर तैर गए। उनके द्वारा चलाया गया अमोघ बाण रामबाण अचूक कहलाया तो उनके मंत्र की शक्ति का तो कहना क्या? नवरात्रि में रामचरित मानस, वाल्मीकि रामायण, सुंदरकांड आदि के अनुष्ठान की परंपरा रही है। मंत्रों का जाप भी किया जाता... आगे पढ़े

नवरात्रि पर्व का चौथा दिवस 

Updated on 9 April, 2019, 6:00
कूष्माण्डेति चतुर्थकम् - सुरासम्पूर्णकलशं रूधिराप्लुतमेव च। दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे।। कहा जाता है कि बह्मांड की उत्पत्ति कुष्मांडा देवी द्वारा की गयी है। अष्टभुजी मॉ कुष्मांडा नवरात्रि के चौथे दिन पूजी जाती है। इनकी पूजा से मनुष्य यश कीर्ति पाकर दीर्घायु होता है और इस लोक के सुख भोगकर मोक्ष को प्राप्त... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्र‍ि में अगर पढ़ लिए दुर्गा के 32 शुभ नाम, तो मिट जाएगा हर संकट

Updated on 8 April, 2019, 6:30
दुर्गा सप्तशती में बताए गए वर्णन के अनुसार - महिषासुर के वध से प्रसन्न और निर्भय हो गए त्रिदेवों सहित देवताओं ने प्रसन्न भगवती से ऐसे किसी अमोघ उपाय की याचना की, जो सरल हो और कठिन से कठिन विपत्ति से छुड़ाने वाला हो। 'हे देवी! यदि वह उपाय गोपनीय हो तब... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि 2019 : मां दुर्गा की तीसरी शक्ति चंद्रघंटा की पावन कथा

Updated on 8 April, 2019, 6:00
पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकेर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता॥   मां दुर्गा की तीसरी शक्ति हैं चंद्रघंटा। नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा-आराधना की जाती है। देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इसीलिए कहा जाता है कि हमें निरंतर उनके पवित्र विग्रह को ध्यान में रखकर साधना करना चाहिए।   उनका ध्यान... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि 2019 : मां दुर्गा की तीसरी शक्ति चंद्रघंटा की पावन कथा

Updated on 8 April, 2019, 6:00
पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकेर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता॥   मां दुर्गा की तीसरी शक्ति हैं चंद्रघंटा। नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा-आराधना की जाती है। देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इसीलिए कहा जाता है कि हमें निरंतर उनके पवित्र विग्रह को ध्यान में रखकर साधना करना चाहिए।   उनका ध्यान... आगे पढ़े

चन्द्रघंटा देवी का स्वरूप तपे हुए स्वर्ण के समान कांतिमय 

Updated on 8 April, 2019, 6:00
पिण्डजप्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकै र्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता।। यह देवी चन्द्रघंटा का ध्यान मंत्र है। दुर्गा पूजा के तीसरे दिन आदिशक्ति दुर्गा के तीसरे रूप की पूजा होती है। मां का तीसरा रूप चन्द्रघंटा का है। देवी चन्द्रघण्टा भक्त को सभी प्रकार की बाधाओं एवं संकटों से उबारने वाली हैं।  चन्द्रघंटा देवी... आगे पढ़े

नवरात्रि की 5 महत्वपूर्ण बातें, भाग्य बदलकर रख देंगी

Updated on 7 April, 2019, 6:45
नवरात्र शब्द से 'नव अहोरात्र' अर्थात विशेष रात्रियों का बोध होता है। इन रात्रियों में प्रकृति के बहुत सारे अवरोध खत्म हो जाते हैं। दिन की अपेक्षा यदि रात्रि में आवाज दी जाए तो वह बहुत दूर तक जाती है। इसीलिए इन रात्रियों में सिद्धि और साधना की जाती है।... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि में इन 12 सरल उपायों से करें देवी नवदुर्गा को प्रसन्न

Updated on 7 April, 2019, 6:30
चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा विशेष फलदायी है। नवरात्रि ही ऐसा पवित्र पर्व है जिसमें महाकाली, महालक्ष्मी और मां सरस्वती की साधना कर मनचाही सिद्धियां-उपलब्धियां हासिल की जा सकती है। मां दुर्गा की कृपा प्राप्ति के लिए कुछ सरल उपाय नीचे दिए जा रहे हैं। 1- अपने घर के... आगे पढ़े

देवी ब्रह्मचारिणी का स्वरूप पूर्ण ज्योतिर्मय

Updated on 7 April, 2019, 6:00
या देवी सर्वभूतेषु ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम आदि शक्ति माता महामाया भगवती दुर्गा का दूसरा स्वरूप है ब्रह्मचारिणी का। देवी ब्रह्मचारिणी का स्वरूप उनके नामनुसार ही तपस्विनी जैसा है। माता के इस रूप एवं उनकी भक्ति के मार्ग पर जब हम आगे बढ़ रहे हैं तो आइये... आगे पढ़े

मां भवानी को करना है प्रसन्‍न तो नवरात्र में भूले से भी न करें ये काम

Updated on 6 April, 2019, 6:45
यूं तो मां भवानी की पूजा हमेशा से ही नियमों के साथ की जाती है लेकिन नवरात्रि में इस बात का विशेष ख्‍याल रखा जाता है कि पूजा विधि-विधान से की जाए। यदि इन 9 दिनों में मां की पूजा में कोई भूल हो जाए तो उसे पूजा का फल... आगे पढ़े