Monday, 26 August 2019, 5:43 AM

धर्म कर्म

आपको भी पता होनी चाहिए रक्षाबंधन की ये 11 खास पारंपरिक बातें

Updated on 7 August, 2019, 6:15
भाई-बहन का पवित्र पर्व रक्षा बंधन मंगलमयी हो और इस पर्व को मनाते समय कोई भूल-चूक न हो, इसके लिए हमें कुछ पारंपरिक बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर राखी बांधते समय आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो निश्चित ही यह आपके लिए और आपके भाई के लिए बहुत फलदायी... आगे पढ़े

श्रावण मास का मंगलवार : आज अपनी राशिनुसार करें भगवान शिव का अभिषेक, मिलेगा अत्यंत शुभ फल

Updated on 6 August, 2019, 6:30
श्रावण में जिस तरह सोमवार का विशेष महत्व है उसी तरह मंगलवार को भी शुभ माना गया है। श्रावण मास में आने वाले सभी मंगलवार के दिन मंगला गौरी व्रत भी किया जाता है। इसे मंगळागौरी, मंगळागौर भी कहा जाता है। मंगलवार को राशि अनुसार ऐसे करें भगवान शिव का... आगे पढ़े

कल्कि अवतार होने वाला है या कि हो चुका, जानिए रहस्य

Updated on 6 August, 2019, 6:15
पुराणों में कल्कि अवतार के कलियुग के अंतिम चरण में आने की भविष्यवाणी की गई है। अभी कलियुग का प्रथम चरण ही चल रहा है लेकिन अभी से ही कल्कि अवतार के नाम पर पूजा-पाठ और कर्मकांड शुरू हो चुके हैं। कुछ संगठनों का दावा है कि कल्कि अवतार के... आगे पढ़े

Friendship day 2019 : एस्ट्रोलॉजी से जानिए किन राशियों के लोग होते हैं आपके बेस्ट फ्रेंड, (पढ़ें अपनी राशि)

Updated on 4 August, 2019, 6:45
x4 अगस्त 2019, रविवार को फ्रेंडशिप डे है। यह दिन हम सभी के लिए बहुत महत्व रखता है। कई बार अचानक हुई जान-पहचान जीवनभर की दोस्ती में बदल जाती है, तो कभी दोस्ती होते हुए भी मन नहीं जुड़ पाते। गहरी दोस्ती या फिर दुश्मनी के लिए आपकी राशि और लग्न... आगे पढ़े

रविवार को दूर्वा गणपति व्रत : भगवान श्री गणेश को दूर्वा चढ़ाने से दूर होंगे सारे कष्ट, पढ़ें ये मंत

Updated on 4 August, 2019, 6:30
4 अगस्त 2019, रविवार को श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है। इस दिन भगवान श्री गणेश को दूर्वा की 21 गांठ चढ़ाने की परंपरा है। इसे विनायकी चतुर्थी और दूर्वा गणपति व्रत कहते हैं। विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेश जी की आराधना बहुत मंगलकारी मानी जाती है। उनके भक्त... आगे पढ़े

अंगूठा बता देता है आपके अंदर का राज  

Updated on 2 August, 2019, 6:45
सभी को भविष्य में क्या छिपा है यह राज जानने की जिज्ञासा होती है। जन्मकुंडली के साथ ही हाथ की रेखाएं देखकर भी भविष्य के राज जाने जा सकते हैं। हस्तरेखा विज्ञान में अंगूठे को चरित्र का आइना कहा जाता है। आप इसे देखकर व्यक्ति के बारे में कई गुप्त... आगे पढ़े

इस प्रकार घर में रहेगी खुशहाली

Updated on 2 August, 2019, 6:15
सभी लोग सुख और खुशहाली से रहना चाहते हैं और इसके लिए धन सबसे अहम होता है। धन के बिना किसी प्रकार के कामकाज नहीं हो सकते। कई बार धन की कमी के पीछे कुछ ऐसे कारण होते हैं जिन्हें हम ज्योतिष उपायों से ठीक कर सकते हैं।  इसका कारण... आगे पढ़े

इस प्रकार महादेव होंगे प्रसन्न 

Updated on 2 August, 2019, 6:00
देवों के देव महादेव को प्रसन्न करना बहुत आसान है। इनकी पूजा पूरी श्रद्धा और भाव से की जाए तो आप पर भोलेनाथ की कृपा बनी रहेगी। शिव शंकर की महिमा से जुड़ी कई पौराणिक कथाएं हैं। इनके अनुसार शिव स्तुति से प्रभु के हर रूप का ध्यान करने के... आगे पढ़े

कालसर्प दोष क्या है? इसके भयानक लक्षण और बचाव, जानिए लाल किताब के उपाय

Updated on 1 August, 2019, 6:15
कुछ विद्वान मानते हैं कि काल सर्प दोष नहीं होता और कुछ इसे मानते हैं। दरअसल राहु और केतु के कारण ही काल सर्प दोष होता है। इसलिए लाल किताब में राहु और केतु के अचूक उपाय बताए गए हैं। आओ जानते हैं काल सर्प दोष के बारे में संक्षिप्त... आगे पढ़े

लाल चींटियों के घर में होने के 4 नुकसान और 5 फायदे

Updated on 31 July, 2019, 6:44
चींटियां मूलत: दो रंगों की होती है लाल और काली। काली चींटी को शुभ माना जाता है, लेकिन लाल को नहीं। लाल को क्यों अशुभ माना जाता है? आओ जानते हैं इस बारे में 5 शुभ और अशुभ मान्यता के बारे में। घर में होने के नुकसान 1.लाल चिंटियों के बारे में... आगे पढ़े

श्रावण मास 2019 : इस महीने में क्या खाएं, क्या नहीं, आपको पता होना चाहिए यह जानकारी

Updated on 27 July, 2019, 14:30
श्रावण मास में कुछ खास चीजें बिलकुल नहीं खाई जाती हैं। इस बरसते-गरजते मौसम में कुछ फल सब्जियों को नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इन सब्जियों में इस समय विषैलापन बढ़ जाता है जो सेहत के लिए ठीक नहीं होता। आइए जानते हैं श्रावण में क्या खाएं और क्या न खाएं श्रावण के... आगे पढ़े

द्रौपदी के 5 के बजाय 14 पति हो सकते थे, लेकिन

Updated on 27 July, 2019, 13:30
पांचाल देश के राजा द्रुपद की कन्या पांचाली अर्थात द्रौपदी का जन्म एक यज्ञ से हुआ था। महाभारत से इतर एक अन्य कथा के अनुसार द्रौपदी के 5 पति थे, लेकिन वो अधिकतम 14 पतियों की पत्नी भी बन सकती थी। पहली कथा- - महाभारत के आदिपर्व में द्रौपदी के जन्म की... आगे पढ़े

रुद्राभिषेक से पूरी होंगीं मनोकामनाएं 

Updated on 25 July, 2019, 7:30
भगवान शिव की पूजा में रुद्राभिषेक का अपना ही महत्व है। भगवान शंकर की कृपा के बिना किसी भी देवी देवता की पूजा फलित नहीं होती है। सावन का माह है और ऐसे में रुद्राभिषेक शिव को प्रसन्न करने का सबसे आसान तरीका है। रुद्राभिषेक शिव मंदिर या घर में... आगे पढ़े

दान से होता है भाग्योदय

Updated on 25 July, 2019, 7:00
भारतीय संस्कृति में दान का इतिहास काफी पुराना है। पूर्व काल में भी राजा-महाराजा प्रसन्नता के अवसरों पर दान करके अपनी खुशी अभिव्यक्त करते थे। दान करने से न केवल आत्मसंतुष्टि व किसी जरूरतमंद की आवश्यकता की पूरी होती है, अपितु आपके जीवन से अशुभता भी घटने लगती है। जानिए... आगे पढ़े

सुबह की शुभ शुरुआत करें 

Updated on 25 July, 2019, 6:30
अगर दिन की शुरुआत शुभ हो तो पूरा दिन अच्छा रहता है। इसीलिए सुबह को शुभ बनाने के लिए कुछ खास काम ऐसे बताए गए हैं, जिन्हें करते रहने से किस्मत का साथ मिल सकता है। काफी लोग दिनभर और देर रात तक कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन मनचाहा लाभ... आगे पढ़े

शिव पूजन से नवग्रहों को करें शांत

Updated on 25 July, 2019, 6:15
सावन में शिव पूजन से नवग्रहों की शांति की जा सकती है। शिव ही सृष्टि के नियंत्रक हैं। उनकी उपासना से हर चीज को नियंत्रित किया जा सकता है। किसी भी ग्रह नक्षत्र को आसानी से शांत भी किया जा सकता है। सावन में थोड़े से प्रयास से किसी भी... आगे पढ़े

भगवान शिव के ये 35 राज, शर्तिया नहीं जानते हैं आप

Updated on 24 July, 2019, 6:30
भगवान शिव अर्थात पार्वती के पति शंकर जिन्हें महादेव, भोलेनाथ, आदिनाथ आदि कहा जाता है, उनके बारे में यहां प्रस्तुत हैं 35 रहस्य। 1. आदिनाथ शिव सर्वप्रथम शिव ने ही धरती पर जीवन के प्रचार-प्रसार का प्रयास किया इसलिए उन्हें 'आदिदेव' भी कहा जाता है। 'आदि' का अर्थ प्रारंभ। आदिनाथ होने के... आगे पढ़े

विश्व में कहां-कहां है शिव की 9 विशालकाय प्रतिमाएं, जानिए यहां

Updated on 24 July, 2019, 6:15
मूर्ति नंबर 1 कैलाशनाथ महादेव, सांगा, जिला भक्तापुर (नेपाल) ऊंचाई 45 मीटर, लगभग 143 फुट विश्व में शिव की सबसे ऊंची मूर्ति नेपाल के चित्तपोल सांगा जिला भक्तापुर में स्थित है। खड़ी मुद्रा में इस मूर्ति का निर्माण कार्य 2004 में शुरू हुआ था और 2010 में यह मूर्ति बनकर तैयार हुई और... आगे पढ़े

14 रुद्राक्ष की सटीक जानकारी, हर रुद्राक्ष देता है आश्चर्यजनक लाभ, पढ़कर विश्वास नहीं होगा

Updated on 23 July, 2019, 6:30
शिव तथा रुद्राक्ष एक-दूसरे के पर्याय हैं। शिव साक्षात् रुद्राक्ष में वास करते हैं। जनसाधारण रुद्राक्ष के महत्व को जानते हैं। रुद्राक्ष एकमुखी से चौदहमुखी तक पाए जाते हैं। शैव संप्रदाय हमारे यहां बहुलता से होते हैं। शिव तो राम, कृष्ण व विष्णु के भी आराध्य रहे हैं। रुद्राक्ष माला... आगे पढ़े

कान क्यों छिदवाते हैं? जानिए क्या हैं इसके फायदे

Updated on 21 July, 2019, 6:30
हिन्दू धर्म में 16 संस्कारों में से एक कर्ण वेध संस्कार का उल्लेख मिलता है। इसे उपनयन संस्कार से पहले किया जाता है। सवाल यह उठता है कि आखिर हम कान क्यों छिदवाना चाहिए या क्यों छिदवाते हैं। ज्योतिष के अनुसार कान छिदवाने से राहु और केतु संबं‍धी प्रभाव समाप्त हो... आगे पढ़े

श्रावण माह में क्यों जरूरी है व्रत, क्या मिलता है लाभ

Updated on 19 July, 2019, 6:30
हिन्दू धर्म के 10 प्रमुख नियम है:- 1.ईश्वर प्राणिधान, 2.संध्योपासना, 3.व्रत, 4.तीर्थ, 5.त्योहार, 6.दान, 7.यज्ञ, 8.संस्कार, 9.सेवा और 10.धर्म प्रचार। ईश्वर प्राणिधान का अर्थ ब्रह्म की सत्य है उसी के प्रति समर्पित रहें, संध्या वंदन एक विशेष प्रार्थना है तो आठ प्रहर में से दो प्रहर की खास होती है,... आगे पढ़े

श्रावण मास : बिल्वपत्र की जड़ में होता है मां लक्ष्मी का साक्षात वास, ये 6 लाभ नहीं जानते होंगे आप

Updated on 19 July, 2019, 6:15
जिस प्रकार भगवान शि‍व के पूजन एवं शिव की कृपा प्राप्ति के लिए बिल्वपत्र और उसके वृक्ष का महात्म्य है, उसी प्रकार बिल्वपत्र के वृक्ष की जड़ का भी विशेष महत्व होता है। इसे पूजन के साथ-साथ औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। यदि आप नहीं जानते तो... आगे पढ़े

तीन प्रकार के होते हैं मंत्र 

Updated on 18 July, 2019, 7:15
सनातन धर्म में मंत्रों के जप को बेहद अहम माना जाता है। मंत्र में आसीम शक्ति होती है और उसने बिना पूजा पूरी नहीं मानी जाती। मंत्र तीन प्रकार के होते हैं। मंत्र 108 बार जपने पर सिद्ध हो जाता है।  मुख्यत: 3 प्रकार के मंत्र होते हैं- 1 वैदिक 2तांत्रिक... आगे पढ़े

मुक्तसर साहिब का इतिहास 

Updated on 18 July, 2019, 7:00
मुक्तसर फरीदकोट जिले के सब डिवीजन का मुख्यालय है। तथा एक खुशहाल कस्बा है। यह प्रसिद्ध तीर्थ स्थान भी है। इसके निकट ही मांझे से आये गुरू गोबिंद सिंह जी के 40 श्रद्धालु सिक्खो ने जिन्हें चालीस मुक्ते कहा जाता है, नवाब वजीर खां की फौजों से जंग करते हुए... आगे पढ़े

अत्यंत पवित्र और सात्विक धातु है चांदी 

Updated on 18 July, 2019, 6:30
चांदी एक चमकदार और सफेद धातु है जो कि हमारे जीवन में हर रोज इस्तेमाल होने वाली एक मुख्य धातु है। धार्मिक दृष्टि से चांदी को अत्यंत पवित्र और सात्विक धातु के रूप में भी माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार इस का उद्भव भगवान शिव शंकर के नेत्रों से... आगे पढ़े

चंद्र ग्रहण में पढ़ें श्री कृष्ण के 108 नाम

Updated on 17 July, 2019, 6:15
भगवान श्रीकृष्‍ण के 108 नामों का चंद्र ग्रहण के दौरान जाप करने से समस्त विपत्तियों का नाश होता है। ग्रहण काल के दोष से भी बचा जा सकता है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं भगवान श्रीकृष्‍ण के 108 नाम और उनके अर्थ...। भगवान श्रीकृष्‍ण 108 नाम 1. अचला : भगवान। 2. अच्युत... आगे पढ़े

Chandra Grahan 2019: जानिए चंद्रग्रहण- सूतक में अंतर, क्या हैं फायदे और नुकसान

Updated on 16 July, 2019, 22:30
नई दिल्ली: अगर आप साल की शुरुआत में सुपरमून का दीदार नहीं कर पाए तो अब आपके लिए आंशिक चंद्रग्रहण को देखने का मौका है. साल का आखिरी चंद्र ग्रहण आज लगने वाला है. यह चंद्रग्रहण तीन घंटे तक लगने वाला है. यह आंशिक चंद्र ग्रहण होगा जिसे पूरे देश... आगे पढ़े

2019 का आखिरी चंद्रग्रहण आज, 149 साल बाद बन रहे हैं ये संयोग

Updated on 16 July, 2019, 10:20
नई दिल्ली: आज गुरु पूर्णिमा महोत्सव है. इस बार गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्रग्रहण का संयोग है, ये संयोग 149 साल के बाद बन रहा है. गुरु पूर्णिमा के अवसर पर चंद्रग्रहण का असर देखने को मिलेगा, जो गुरु पूजन में बाधक रहेगा.  इसलिए इस चंद्रग्रहण को दुर्लभ और ऐतिहासिक... आगे पढ़े

चंद्र ग्रहण 2019 : 16 जुलाई को बन रहे हैं विशेष दुर्लभ संयोग, यह ग्रहण बढ़ा सकता है तनाव

Updated on 15 July, 2019, 6:30
इस बार गुरु पूर्णिमा पर्व वाले दिन चंद्र ग्रहण लग रहा है। गुरु पूर्णिमा पर यह लगातार दूसरे साल चंद्र ग्रहण लग रहा है। इससे पहले 27 जुलाई को गुरु पूर्णिमा पर ही खग्रास चंद्र ग्रहण था। क्योंकि ग्रहण से पहले सूतक लग जाता है। इसलिए गुरु पूर्णिमा पर गुरु... आगे पढ़े

श्रावण माह में कांवड़ यात्रा की प्रासंगिकता 

Updated on 15 July, 2019, 6:15
हर साल श्रावण मास में लाखों की तादाद में कांवडिये सुदूर स्थानों से आकर गंगा जल से भरी कांवड़ लेकर पदयात्रा करके अपने गांव वापस लौटते हैं इस यात्राको कांवड़ यात्रा बोला जाता है। श्रावण की चतुर्दशी के दिन उस गंगा जल से अपने निवास के आसपास शिव मंदिरों में... आगे पढ़े